Saturday, June 04, 2016

Zindagi Shayari mix collection ज़िन्दगी पर शायरी संग्रह

****
ज़िन्दगी का फलसफा भी कितना अजीब है,
शामें कटती नहीं, और साल गुज़रते चले जा रहे है… ”
***
ज़रूरी तो नहीं के शायरी वो ही करे जो इश्क में हो,
ज़िन्दगी भी कुछ ज़ख्म बेमिसाल दिया करती है।
***
अकेले ही गुज़रती है ज़िन्दगी
लोग तसल्लियां तो देते हैं , पर साथ नहीं…!!
***
जीवन की सुबह में कभी सांझ न हो
जो मिल न सके रब से वो मांग न हो
खूब चमकें सितारे खुशियों के
ज़िन्दगी कभी अमावस का चाँद न हो
***
सही वक़्त पर पिए गए “कड़वे घूंट”
अक़्सर ज़िन्दगी “मीठी” कर दिया करते है”
***
रास्ता तू ही और मंज़िल तू ही, चाहे जितने भी चलूँ मैं कदम,
… … तुझसे ही तो मुस्कुराहटें मेरी, तुझ बिन ज़िन्दगी भी है सूनी..!!
***
तकदीरें बदल जाती हैं, जब ज़िन्दगी का कोई मकसद हो;
वर्ना ज़िन्दगी कट ही जाती है ‘तकदीर’ को इल्ज़ाम देते देते….
***
ये ज़िन्दगी जो मुझे कर्ज़दार करती रही,
कभी अकेले में मिले तो हिसाब करूँ
***
धीरे धीरे उम्र कट जाती है, जीवन यादों की पुस्तक बन जाती है, कभी किसी की याद बहुत तड़पाती है और कभी यादों के सहारे ज़िन्दगी कट जाती है..
***
दो रोज़ तुम मेरे पास रहो.. दो रोज़ मैं तुम्हारे पास रहुं.. चार दिन की ज़िन्दगी है.. ना तुम उदास रहो.. ना मैं उदास रहुं….
***
“दहशत” सी होने लगी है इस सफ़र से अब तो…
ए-ज़िन्दगी___ कहीं तो पहुँचा दे„„„ख़त्म होने से पहले…
***
फटी जेब सी ज़िन्दगी, सिक्को से दिन… लो आज फिर ..इक गिर कर गुम हो गया..!!
***
मेरी ज़िन्दगी में खुशियाँ तेरे बहाने से है, आधी तुझे सताने से है, आधी तुझे मनाने से है..
***
चाहा है तुझ को तेरी तग़ाफ़ुल के बावजूद;
ए ज़िन्दगी तू याद करेगी कभी हमें
***
मरता नहीं कोई किसी के बगैर ये हकीकत है
ज़िन्दगी की लेकिन सिर्फ सांसें लेने को `जीना` तो नहीं कहते!
***
बाद मुद्दत के यह घडी आई आप आये तो ज़िन्दगी आई
इश्क मर-मर के कामयाब हुआ आज एक ज़र्रा आफताब हुआ
***
कुछ इस तरह फ़कीर ने ज़िन्दगी की मिसाल दी,
मुट्ठी में धूल ली और हवा में उछाल दी !
***
ज़िन्दगी की जरूरतें समझिए वक्त कम है फरमाइश लम्बी हैं झूठ-सच,जीत- हार की बातें छोड़िये, दास्तान बहुत लम्बी है.
***
ज़िन्दगी एक हसीन ख्वाब है जिसमें जीने की चाहत होनीचाहिये गम खुद ही खुशी में बदल जायेंगे सिर्फ मुस्कुराने की आदत होनीचाहिये
***
कुछ ज़रूरतें पूरी तो कुछ ख्वाहिशें अधूरी,
इन्ही सवालों के जवाब हैं ज़िन्दगी !!
***
लम्हों की खुली किताब हैं ज़िन्दगी, ख्यालों और सांसों का हिसाब हैं ज़िन्दगी,
***
फिर कोई मोड़ लेने वाली है ज़िन्दगी शायद …
अब के फिर हवाओं में, एक बे-करारी है….
***
ज़िन्दगी की राहों में.. ऐसा अक्सर होता है..
फैसला जो मुश्किल हो वो ही बेहतर होता है..!!
***
सुबह तो खुशनुमा थी, क्यों शाम मुझे फिर तनहा छोड़ गयी, ……… ……… मंजिल दिखी ही थी, कि ज़िन्दगी फिर रास्ता मोड़ गयी..!!
***
यादो की कसक..साँसों की थकन..आँखों में नमी सी है. ज़िन्दगी तुझमे सब है, फिर काहे की कमी सी है…
***
डूबती हैं ज़िन्दगी,ग़म के सागर में कभी
बच निकलने की तुम्ही,बस आस लगते हो मुझे
***
आरज़ू,हसरत,तमन्ना और ख़ुशी कुछ भी नही,
ज़िन्दगी में तू नही तो ज़िन्दगी कुछ भी नही…
***
हाथ पकड़ कर रोक लेते अगर, तुझपर ज़रा भी ज़ोर होता मेरा,
ना रोते हम यूँ तेरे लिये, अगर हमारी ज़िन्दगी में तेरे सिवा कोई ओर होता…
***
शिकायत तो बहुत है तुझसे ऐ ज़िन्दगी, पर चुप इसलिए हूं कि जो दिया तूने वो भी बहुतों को नसीब नहीं होता
***
इन्तिहा आज इश्क की कर दी, आप के नाम ज़िन्दगी कर दी, था अँधेरा गरीब खाने में, आप ने आ के रोशनी कर दी,
***
ख़्वाबों से मुझको और न बहला सकेगी रहने दे ज़िन्दगी..! तेरा जादू उतर गया..।।
***
मुझे रात दिन ये ख्याल है•वो नज़र से मुझको गिरा ना दें•मेरी ज़िन्दगी का दिया कहीं•ये ग़मो की आंधी बुझा ना दें
***
तेरी मुहब्बत की तलब थी तो हाथ फैला दिए वरना, हम तो अपनी ज़िन्दगी के लिए भी दुआ नहीं करते…
***
उस के चहरे पर लिखे है दिल के अफ़साने कई, वो किताबे-ज़िन्दगी का इक सुनहरा बाब है.!
Search Tags
Zindagi Shayari, Zindagi Hindi Shayari, Zindagi Shayari, Zindagi whatsapp status, Zindagi hindi Status, Hindi Shayari on Zindagi, Zindagi whatsapp status in hindi, ज़िन्दगी हिंदी शायरी, हिंदी शायरी, ज़िन्दगीज़िन्दगी स्टेटस, ज़िन्दगी व्हाट्स अप स्टेटस
Share: