Sunday, July 24, 2016

Kalpana Saroj 2 रुपये से 500 करोड़ तक

Success Motivational Stories of Indian Entrepreneurs In Hindi
kalpana saroj images

अपना नसीब हम खुद बना सकते है ये खुद के Example से सच कर दिखाया, “दलित” समाज में जन्मी हुई एक लड़की ने, इस लड़की को सिर्फ जन्मसे दलित होने के वजह से तकलीफे सहनी पड़ी. ऐसे में सिर्फ 12 साल की उम्र में उसकी शादी कर दी गई और वो भी उससे 10 साल बड़े लड़के से. शादी के बाद वो मुंबई के एक झोपडपट्टी में रहने आयी, शादी के बाद उसके जीवन में और भी तकलीफ आयी ससुराल वालो की और से हमेशा तकलीफ और मारपीट होती थी.
                   एक दिन उसके पिता को इस बात का पता चला और उन्होंने तभी उसको अपने गाव में वापीस लाया, लेकिन पतीने छोड़ी हुई बोलके समाज में उसेही दोषी ठहराया हमेशा की इस तकलीफ से परेशान होकर आखिर उसने Poison पीकर ख़ुदकुशी करने का प्रयास किया खुशकिस्मती से वो बच गयी. पर इस घटना से बचने के बाद उसका मन और भी मजबूत हो गया और उसने एक ही निर्धार किया. खुद की जीवन की नयी सुरुवात करके और खुद का नसीब खुद बनाना ऐसा उसने ठान लिया.
उसने आगे की पढाई शुरू करने का प्रयास किया पर उसमे उसको असफलता ही हाथ में आयी फिर उसने दोबारा मुंबई जाकर नोकरी ढूंढने का प्रयास किया उसमे भी असफलता ही मिली, आखिर में पेट भरने के लिए कुछ करना ही है इसलिए उसने अपनी माँ से कपडे सिलाई का कम सिख लिया और कपडे सिलाई का छोटासा बिज़नेस चालू किया, यही उसकी सफलता की शुरुवात हुयी.  दिन के 16 – 16 घंटे कम करके उसने अपने बिजनेस को धीरे धीरे बढाना सुरु  किया, ये करते समय उसने उत्पादनों के लिए लगनेवाली बड़ी सिलाई
मशीन की जानकारी मिलाई. लघु उद्योग वालो को मिलने वाली सरकारी योजनाओ का फायदा लेकर 50,000 रु. का लोन लिया और खुद का छोटेखानी बुटिक चालू किया.
इसका ये बिजनेस अच्छा चलने लगा, कुछ सालोमे अच्छा मुनाफा मिलनेके बाद उसने एक जोखीम उठाई  किसी को भी यकींन नहीं होगा ऐसा कम उसने किया “कमानी ट्यूब्स” नाम की एक डूबने वाली कंपनी उसने 2.5 करोड़ रुपयों में खरीद ली. सच तो ये एक इंजीनियरिंग कंपनी थी इंजीनियरिंग की कंपनी चलाने का किसी भी प्रकार का Experiance नहीं होने के बावजूद उसने एक ऐसी जोखीम उठाई थी पर आज “कमानी ट्यूब्स” ये एक बड़ी तेजी से बढने वाली लगभग 100 मिलियन डॉलर्स इतनी कीमत वाली कंपनी है. और शेकडो लोगोका घर इस कंपनी के वजह से चलता है.
कोई भी MBA की डिग्री ना होने के बावजूद सिर्फ जीवन ने सिखाये ज्ञान और खुद के हिम्मत के बल पर वो आज कॉर्पोरेट शेत्र में बड़ी सम्मान से जानी जाती है, उसे अपने इस कर्तुत्व के लिए बहुत अवार्ड मिले.
Share: