Weather (state,county)

हमने तो बेवफा के भी दिल से वफा किया

हमने तो बेवफा के भी दिल से वफा किया
इसी सादगी को देखकर सबने दगा किया

मेरी तिश्नगी तो पी गई हर जख्म के आंसू
गर्दिश में आके हमने अपना घर बना लिया

मेरे सामने खुदा भी भला आ पाए तो कैसे
जिसके सितम को हंसके गले से लगा लिया

परेशानियों के दम पे टिकी है ये जिंदगी
इस गम से ही जीवन का सपना सजा लिया
Powered by Blogger.