Weather (state,county)

दिल की ये आहें तेरे नाम कर दी

तेरी जुस्तजू में ये हालत हुई है
खयालों में जीने की आदत हुई है

हमें चांद पाने की ख्वाहिश नहीं है
फ़कत एक जूगनू की चाहत रही है

दिल की ये आहें तेरे नाम कर दी
तेरे गम में आंखों से दरिया बही है

तुमसे बिछड़ के खफ़ा दिल है फिर भी
तुझे भूल जाऊं, वो हसरत नहीं है
Powered by Blogger.