Weather (state,county)

Mix Shayri collection 6 / मिक्स शायरी संग्रह 6

अहिस्ता कीजिये कत्ल मेरे अरमानो का..
कही सपनो से लोगो का ऐतबार ना उठ जाए….
-*******
उन से कह दो अपनी ख़ास हिफाज़त किया करे ..
बेशक साँसे उनकी है … पर जान तो मेरी है …!!
*********
मेरी खामोशियो का कोई मोल नहीं,
उनकी जिद्द की कीमत ज्यादा है! !
*********
एहसान जताना जाने कैसे सीख लिया;
मोहब्बत जताते तो कुछ और बात थी।
********
तुम क्या समझते हो की ,तुम्हारे सीवा हमें कोई चाहने वाला नहीं ।
तुम छोड़ो तो सही, मौत खड़ी है हमें अपनाने के लिए ।
*******
लिखना दिल का हिसाब चुपके से ,
मुझको देना जवाब चुपके से !
मेरे ख्वाबों में तुम चली आना ,
मई भी देखूंगा ख्वाब चुपके से !
मै ज़माने से छुप के देखूंगा ,
तुम हटाना नकाब चुपके से !
दिल कि दुनिया में जब भी आना हो ,
आईयेगा जनाब चुपके से !
**********
मिलने का वादा मुंह से तो उनके निकल गया,
पूछी जगह जो मैंने, कहा हंस के की ख़्वाब में…
********
ये इश्क भी एक अजीब एहसास होता है…
अल्ज़फों से ज्यादा निगाहोसे बया होता है…
हर पल बस उसके गम और खुशी की फ़िक्र होती है…
इसी एहसास से तो हमको जीने का गुमान होता है…
*******
कैसे भुला दूँ उस भूलने वाले को मैं..
मौत इंसानों को आती है यादों को नहीं..
********
सब समझते है, बात मतलब की,
किस ने समझा है, बात का मतलब…
*******
ये मौत भी अजीब चीज़ है दोस्तों एक दिन मरने के लिए पूरी जिंदगी जीना पड़ती है…
********
इंसानियत ही पहला धर्मं है इंसान का…
फिर पन्ना खुलता है गीता या कुरान का…
********
हम वक्त और हालात के साथ ‘शौक’ बदलते हैं,
दोस्त नही … !!
*********
भरी बरसात में उड़ के दिखा ऐ माहिर परिंदे
आसमान खुला हो तो तिनके भी सफर किया करते हैं !!
********
तेरा हुआ ज़िक्र तो हम; तेरे सजदे में झुक गये,,,
अब क्या फर्क पड़ता है; मंदिर में झुक गये या;
मस्जिद में झुक गये!!!
*********
गिला शिकवा ही कर डालो कि कुछ वक्त कट जाए..!!
लबों पे आपके ये खामोशी अच्छी नहीं लगती..!!
********
“कोई वादा नहीं फिर भी प्यार है,
जुदाई के बावजूद भी तुझपे अधिकार है.
तेरे चेहरे की उदासी दे रही है गवाही,
मुझसे मिलने को तू भी बेक़रार ह ै.”
********
“मेरे दिल के नाज़ुक धड़कनो को,
तुमने धड़कना सिखा दिया…..
जब से मिल ा हैं प्यार तेरा,
ग़म में भी मुस्कुराना सिखा दिया.”
*********
मुजे एक ने पूछा “कहा रहते हो “
मैंने कहा “औकात मे “
साले ने फिर पूछा “कब तक ?”
मैंने कहा “सामने वाला रहे तब तक “
*******
प्यार में मेरे सब्र का इम्तेहान तो देखो..
वो मेरी ही बाँहों में सो गए किसी और के लिए रोते रोते …।
**********
वक्त थोड़ा है पास मेरे,
पर बहुत कुछ अभी करना बाकी है।
वो जख्म जो अपनों ने दिये,
उसे भी भरना बाकी है।
तेरी दोस्ती की आदत सी पड़ गयी है मुझे,
कुछ देर तेरे साथ चलना बाकी है।
शमसान मैं जलता छोड़ कर मत जाना,
वरना रूह कहेगी कि रुक जा,
अभी तेरे यार का दिल जलना बाकी है।
*******
पैसे के नशे में जब आदमी चूर होता है ,
उसे लालच का हर फैसला मंजूर होता है.
********
तेरी पहचान भी न खो जाए रफ्ता रफ्ता,
इतने चेहरे न बदल थोड़ी सी शोहरत के लिए …
********
मोहब्बत क्या है चलो दो लफ्ज़ो में बताते है
तेरा मजबूर कर देना मेरा मजबूर हो जाना!!
*******
कोई रूह का तलबगार मिले तो हम भी महोब्बत कर ले…
यहाँ दिल तो बहुत मिलते है,बस कोई दिल से नहीं मिलता…
*********
बहुत देखा जीवन में समझदार बन कर
पर ख़ुशी हमेशा पागल बनने पर आयी।
Powered by Blogger.