Weather (state,county)

फेसबुक की लत आपको बना सकती है गजनी का आमिर खान

बैंगलोर। फेसबुक पर आपकी या आपके फ्रेंड की वॉल पर कोई पोस्‍ट देखते ही अगर आप लाइक करते हैं, कमेंट करते हैं और फिर किसी डिसकशन में ऐसे उलझ जाते हैं, मानो आपका निजी मैटर हो, तो समझ लीजिये आप भी गजनी फिल्‍म के आमिर खान की राह पर चल रहे हैं। जी हां सही समझे आप, जरूरत से ज्‍यादा फेसबुक ऐक्‍सेस करने से शॉर्ट टर्म मेमोरी लॉस की बीमारी हो जाती है।
स्‍टॉकहोम के केटीएच रॉयल इंस्‍टीट्यूट आफ टेक्‍नालॉजी के इरिक फ्रानसेन का कहना है कि आज के 'इंफारमेशन ओवरलोड' के दौर में आफ लाइन रहना ज्‍यादा बेहतर है क्‍योंकि जब आप सोशल मीडिया के एडिक्‍ट होते हैं तो बहुत सारी घटनाओं को देखते हैं जो कि हमारे मन मस्तिष्‍क में गहरा प्रभाव छोड़ती हैं, जिससे कि हम चीजों को कम समय में भूलने लगते हैं।
फ्रानसेन का कहना है कि हमारे दिमाग का वो हिस्‍सा जिसे 'वर्किंग मेमोरी' के नाम से जानते हैं, घटनाओं को कम समय तक संचित रखता है। वर्किंग मेमोरी के कारण ही हम बातचीत के दौरान आवश्‍यक मुद्दों पर अपनी राय दे पाते हैं और जब हम ज्‍यादा सोशल मीडिया का इस्‍तेमाल करते हैं तो इसकी इंफार्मेशन हमारी सीमित वर्किंग मेमोरी में जगह बना लेती है। यह मेमोरी तीन से चार बातों को ही एक समय ध्‍यान रख सकती है, पर सोशल मीडिया का ज्‍यादा इस्‍तेमाल करने से दिमाग का यह हिस्‍सा 'इंफार्मेशन ओवरलोड' का शिकार हो जाता है, जिससे कि हमारी याद रखने की क्षमता का ह्रास होने लगता है।
Powered by Blogger.