Weather (state,county)

सब कुछ बदल देता है "समय"

अपने आस -पास देखिये , जिन मुहल्लों की गलियों में आप बड़े हुए हैं , उन्हें जरा मुड़कर देखिये … कई रोचक कहानियां मिल जाएँगी , और आज मैं भी अपनी गलियों से निकली ऐसी ही 3 कहानियां आपसे share करना चाहता हूँ .

मैं सिमडेगा (झारखण्ड) में पला -बढ़ा , 10th तक की schooling भी वहीँ हुई . वहीँ के कुछ आम लोगों के बारे में बताना चाहूंगा जिनसे शायद आपको भी कुछ प्रेरणा मिले .सबसे पहले एक लड़की की कहानी , नाम छोड़िये ; पढ़ने में बिलकुल सामान्य , Jharkhand board की पढ़ाई ; पता नहीं की उसने कभी first division marks लाये हों , पर उस साधारण सी लगने वाली लड़की ने लाखों लोगों को competition में beat किया और अभी बतौर एक न्यायाधीश देश की सेवा कर रही है .
अगर सालों पहले लोगों से पुछा जाता कि वो आगे चल कर क्या करेगी तो शायद वे कहते … शादी करेगी और घर संभालेगी। …. पर समय सब कुछ बदल देता है .
दूसरी कहानी , मेरे उम्र के ही एक लड़के की , lower middle class, या शायद एक गरीब परिवार का लड़का , एक cycle बनाने वाले के यहाँ किराये पर एक छोटा सा कमरा लेकर रहता था और अपने खर्च निकलने के लिए दसियों किलोमीटर cycle चला कर tuition पढ़ाता था . टूटी-फूटी इंग्लिश बोलता था , Distance- learning program से पढ़ाई की , दिल्ली में छोटी -मोटी job की , Search Engine Optimization (SEO) का काम सीखा , और फिर खुद वो काम शुरू कर दिया , एक बहुत छोटे से कमरे से … साल बीतते गए … वो मेहनत करता गया और उस business से लाखों -करोड़ों कमाए , माँ -बाप के सपने पूरे किये ,और गरीबी को हमेशा – हमेशा के लिए अपनी ज़िन्दगी से निकाल फेंका .
अगर तब किसी से पुछा जाता कि ये लड़का आगे चल कर क्या करेगा … तो शायद लोग कहते , कोई छोटी- मोटी नौकरी करेगा , या थक -हार कर अपने गाँव चला जायेगा और खेती -वेति करेगा …. पर समय सब कुछ बदल देता है .
आखिरी और तीसरी कहानी एक lady की , पढ़ने -लिखने में अच्छी , convent educated, पर शादी के बाद घर संभालने की जिम्मेदारी , बच्चों को पढ़ाना – लिखाना , husband का ख्याल रखना और सास -ससुर की सेवा करना …. सालों -सालों तक यही करते रहना , बच्चों और परिवार के लिए ability होते हुए भी अपना career कुर्बान करना …फिर बच्चे बड़े होते हैं , जिम्मेदारियां कुछ कम होती हैं और 10-15 साल पहले किये गए Bed की वजह से एक competition में बैठने का मौका मिलता है … जीतोड़ मेहनत की जाती है …selection होता है और आज वो lady एक Govt School में Principal हैं .
एक बार फिर , अगर तब लोगों से पुछा जाता कि ये lady आगे चल कर क्या करेगी तो शायद सब यही कहते , करेगी क्या वही जो अब कर रही है … पर एक बार फिर समय सब कुछ बदल देता है .
दोस्तों , ये बड़ी आम सी कहानिया हैं ,हमारे-आपके जैसे आम लोगों की कहानियां हैं , पर इन कहानियों से एक उम्मीद जागती है , समय के साथ सब कुछ बदल सकता है . आज हम क्या हैं ये सब जानते हैं पर कल हम क्या हो सकते हैं ये हम खुद भी नहीं जानते … हम अपनी मेहनत से अपने भाग्य का निर्माण कर सकते हैं . अगर हम आज पढ़ने में कमजोर हैं तो कल को हम अपनी मेहनत से topper बन सकते हैं , अगर आज हमारे पास पैसे नहीं हैं तो कल हम अपनी मेहनत से दौलतमंद बन सकते हैं , अगर आज हमारे पास opportunity नहीं है तो क्या … कल हमें कुछ कर दिखाने का मौका मिल सकता है .
समय सब कुछ बदल देता है !
All the best !
Powered by Blogger.