Weather (state,county)

Aansoo Shayari mix collection आँसू पर शायरी संग्रह

****
डूब जाते हैं उम्मीदों के सफ़ीने इस में, मैं नहीं मानती आँसू.. ज़रा सा पानी है
***
“ज़िन्दगी की ग़ज़ल के शेरों का ? आखिरी तर्ज़ुमा तो आँसू है…!”
***
कैसे हो पाये भला इंसान की पहचान ? दोनों नकली हो गए, आँसू और मुस्कान..!!
***
तुझे बचपन मेँ ही मांग लेते.. हर चीज मिल जाती थी…दो आँसू बहाने से..!!!
***
दर्द कितना है बता नहीं सकते ज़ख़्म कितने हैं दिखा नहीं सकते आँखों से खूद समझ लो आँसू गिरे हैं कितने गिना नहीं सकते…
***
मेरी दोस्ती हमेशा याद आएगी कभी चेहरे पे हँसी,कभी आँखो मे आँसू लाएगी भूलना भी चाहोगे तो कैसे भुलोगे मेरी कोई तो बात होगी जो हमेशा याद आएगी
***
मुस्कुराती आँखों से अफ़साना लिखा था,शायद आपका मेरी ज़िन्दगी में आना लिखा था तक़दीर तो देखो मेरे आँसू की उसको भी तेरी याद मे बह जाना लिखा था
*** ( Aansoo Hindi Shayari Sad Shayari)
पल फुर्सतों के ज़िंदगी से छाँट लेते हैं, चलो ना थोडी खुशियाँ, थोडे आँसू बाँट लेते हैं…!
***
क्या लिखूँ दिल की हकीकत आरज़ू बेहोश है,ख़त पर हैं आँसू गिरे और कलम खामोश है!
***
ज़माने से ना पूँछों हाल-ए-दिल, आँसू बयान करते हैं ज़ख़्मों की गहराई ।
***
आँसू पीकर भी जो मुस्कुराए वही तो ज़माने को जीत पाए
***
जिन्हें सलीका है ग़म समझने का उन्हींके रोने में आँसू नज़र नहीं आते… ख़ुशी की आँख में आँसू की भी जगह रखना बुरे ज़माने कभी पूछकर नहीं आते…
***
तासीर किसी भी दर्द की मीठी नहीँ होती गालिब. वजह यही है कि आँसू भी नमकीन होते है.
***
जिसकी किस्मत मे लिखा हो रोना दोस्तो..!! वो मुस्कुरा भी दे तो आँसू निकल आते है.. !!
***
कितने मासूम होते हैं ये आँसू भी… ये गिरते भी उनके लिये हैं जिन्हें इनकी परवाह नहीं होती..
***
करोगे याद एक दिन प्यार के ज़माने को चले जाएँगे जब हम ना वापिस आने को चलेगा जब महफ़िल मे ज़िक्र हमारा तो तुम भी तन्हाई ढूँढोगेआँसू बहाने को
***
ज़रासी बात देर तक रूलाती रही खुशी में भीआँखें आँसू बहाती रह कोई खो के मिला तो कोई मिल के खो गया ज़िंदगी हम को बस ऐसे ही आज़माती रही !
*** ( Aansoo Hindi Shayari Sad Shayari)
मज़बूरी में जब कोई जुदा होता है; ज़रूरी नहीं कि वो बेवफ़ा होता है; देकर वो आपकी आँखों में आँसू; अकेले में वो आपसे ज्यादा रोता है।
***
बेश-क़ीमत है ये मोती से मिरी पलकों पर चंद आँसू हैं मिरे पास निशानी उस की
***
वो नदियां नहीं आँसू थे मेरे जिनपर वो कश्ती चलाते रहे, मंज़िल मिले उन्हें ये चाहत थी मेरी इसीलिए हम आँसू बहाते रहे…
***
दर्द होता नहीँ दुनिया को बताने के लिए हर कोई रोता नहीँ आँसू बहाने के लिए रुठने का मजा तो तब है जब कोई अपना हो मनाने के लिए…
***
ख़ूब हँस लो की मेरे हाल पे सब हँसते हैं मेरी आँखों से किसी ने भी न आँसू पोंछे मुझ को हमदर्द निगाहों की ज़रूरत भी नहीं !!
*** ( Aansoo Hindi Shayari Sad Shayari)
“काश वो पल संग बिताए न होते जिनको याद कर के ये आँसू आये ना होते खुदा को अगर इस तरह दूर ले जाना ही था तो इतनी गहराई से दिल मिलाए ना होते ”
***
आँसू बहे तो एहसास होता है,दोस्तो के बिना जीवन कितना उदास होता है,ज़िंदगी आपकी रहे सितारो जितनी लंबी,ऐसा दोस्त तो कहा किसी के पास होता है.
***
आँसू को कभी ओस का क़तरा न समझना ऐसा तुम्हें चाहत का समुंदर न मिलेगा
***
मैं आज ढूंढ रही हूँ वजूद मेरा तुझसे थी लिपटी जैसे बनकर तेरी परछाई रुसवाई का इल्जाम भी है तेरा कभी दिए आँसू तो कभी विरासत में तन्हाई!
***
नीँद मेँ भी गिरते है मेरी आँखो से आँसू….! जब भी तुम ख्बाबो मे मेरा हाथ छोड देती हो..!!
***
मेरा ग़म इतना मज़बूत था…. बहारों ने आँसू बहाएँ…. चाँद खून में नहाया….
***
जो तेरी याद में मोती बन कर बह गए….. वो आँसू जो चुपचाप सबकुछ कह गए….
***
रात होगी तो चाँद दुहाई देगा„ ख्वाबो में आपको वोह चेहरा दिखाई देगा… ये मोहब्बत है ज़रा सोच के करना„ एक आँसू भी गिरा तो सुनाई देगा…!!!
*** ( Aansoo Hindi Shayari Sad Shayari)
एक जिसकी मुस्कुराहट कर दे हरसू रौशनाई। वो अाज आँसू बन कर उसकी आँखो से है छलक आई।।
***
अच्छा हुआ ये आँसू बेरंग है वरना हर सुबह मेरे तकिये का बदला हुआ रंग मेरी तन्हाई की हकीकत ब्यान कर देता…
***
आया नहीं था कभी मेरी आँख से एक आँसू भी, मोहब्बत क्या हुई आँसुओं का सैलाब आ गया.
***
अब तेरी आँख में आँसू किस लिए…….पागल…… जब छोड़ ही दिया था तो भुला भी दिया होता
***
हँसने पर आँसू आते हैं रोना है फरेबी आँखों का, उस दिन से ग़म है मेरे दिल में जिस दिन से उल्फ़त है सीने में,,,
*** ( Aansoo Hindi Shayari Sad Shayari)
मैने खुदा के फरिश्ते से पुछा,कीमत क्या है इस दुनिया में प्यार की।फरिशता हस के बोला,आँसू भरी आँखे और एक पूरी उमर इंतेज़ार की।
***
जब आपसे मिलने की उम्मीद नज़र आयी„ मेरे पाँव में ज़ंजीर नज़र आयी… गिर पड़े आँसू आँख से„ और हर एक आँसू में आपकी तस्वीर नज़र आयी…
***
बेबसी तेरी इनायत है कि हम भी आजकल अपने आँसू अपने दामन पर बहाने लग गये
***
आँख का आँसू तो हर कोई, बन जाता हैं यहाँ… हम तो बस मुस्कुराहट बनने की, आरज़ू रखते हैं….!
***
रोकने की कोशिश तो बहुत की पलकों ने, पर इश्क में पागल आँसू, खुदखुशी करते रहे।
***
कुछ तो है जो तुझमे भी है मुझमे भी है, यूँही तो नहीं तेरे दर्द में मेरे आँसू बहते हैं।
***
मेरे घर से रात की सेज तक वो इक आँसू की लकीर है ज़रा बढ़ के चाँद से पूछना वो इसी तरफ़ से गया न हो
*** ( Aansoo Hindi Shayari Sad Shayari)
आयेंगे तुझसे मिलने सितारों की रोशनी मे, ऐ पत्थर-ए-सनम एक आँसू अपनी बेवफ़ाई पर बहा देना ।
***
जख्म जब मेरे सीने के भर जाऐंगे आँसू भी मोती बनकर बिखर जाऐंगे ये मत पूछना, किस किसने धोखा दिया वरना कुछ अपनों के .. चेहरे उतर जाऐंगे ..!!
***
” निदामत ” के चिरागों से बदल जाती हैं ” तकदीरें ” ” अँधेरी ” रात के आँसू खुदा से बात करते हैं…
***
बहाए होंगे सितारों ने रात भर आँसू … ये सुब्ह इसलिए कुछ शबनमी सी लगती है.
***
तेरे इश्क की दुनिया में हर कोई मजबूर है पल में हँसी पल में आँसू ये चाहत का दस्तूर है
***
“”आखिर गिरते हुए आँसू ने पूछही लिया, मुझसे गिरा दिया न, मुझे उसके लिए?””जिसके लिए तू कुछ भी नही””
***
लब पे आहें भी नहीं आँख में आँसू भी नहीं दिल ने हर राज़ मुहब्बत का छुपा रक्खा है
***
उसकी पलकों से आँसू को चुरा रहे थे हम उसके ग़मो को हंसीं से सजा रहे थे हम जलाया उसी दिये ने मेरा हाथ जिसकी लो को हवा से बचा रहे थे हम
***
मेरे नाम पे उसकी आँखों में आँसू ?? उफ्फ़ !! ना कर मज़ाक, इस बात पे जान भी जा सकती हैं..
***
ज़िन्दा था तो एक नज़र न देखा प्यार से फराज़, मर गए हैं तो अब कब्र पे आँसू बहाने आ गए…!!
***
जब बिखरेगा इंतज़ार में ज़मीन पर तेरी आँख का आँसू, एहसास तुझे तब होगा मोहब्बत किसको कहते हैं!..
***
आँसू ना होते तो आँख इतनी खूबसूरत ना होती दर्द ना होता तो खुशियों की कीमत ना होती पुरी करता रब यूँ ही सब मुरादें तो इबादत की जरुरत ही ना होती
***
मोहब्बत के भी कुछ राज होते हैं जागती आँखों मे भी ख्वाब होते हैं जरूरी नही है कि गम मे ही आँसू आएँ मुस्कुराती आँखों मे भी सैलाव होते हैं
***
हसरत तो है कि तेरे आँख का आँसू बन जाउ.. ..पर तू रोए ये हमे गवारा नहीं
***
तू इश्क की दूसरी निशानी देदे मुझको,आँसू तो रोज गिर के सूख जाते हैं….!!
***
लबो पे तरन्नुम के आँखों में आँसू, के हम रो दिए मुस्कुराने से पहले, बरसती रहीं मुश्तकिल मेरी आँखे, बहुत याद आए तुम आने से पहले।।
***
सब कुछ लुटा दिया तेरी मोहब्बत में कमबख्त आँसू ही ऐसे है जो खत्म नहीं होते…!!
Powered by Blogger.