Weather (state,county)

Kajal Shayari mix collection काजल पर शायरी संग्रह

गाँव छोड़ा तो कई आँखों में काजल फैला
शहर पहुँचा तो किसी माथे पे झूमर झूमा #बशीर_बद्र
***
“काँपती लौ, ये स्याही, ये धुआँ, ये काजल
उम्र सब अपनी इन्हें गीत बनाने में कटी
कौन समझे मेरी आँखों की नमी का मतलब
ज़िन्दगी गीत थी पर जिल्द बंधाने में कटी” (नीरज)
***
तेरी आँखों में समा जाऊँगा काजल की तरह,
तू ढूँढती रह जायेगी मुझे पागल की तरह,,
***
काजल लगे नैनो मे डोरे हुए गुलाबी
कैफियते अंजाम तमाम शहर हुआ शराबी
***
शाम की लाली रात का काजल सुबह की तक़दीर हो तुम
हो चलता फिरता ताजमहल सांसे लेता कश्मीर हो तुम
*** Kajal Shayari in Hindi
आईना नज़र लगाना चाहे भी तो कैसे लगाए,
काजल लगाती है वो आईने में देखकर।
***
गीली मेंहदी रोई होगी, छुपके घर के कोने में!
ताजा काजल छूटा होगा, चुपके-चुपके रोने में!
***
उसका लिक्खा हुआ हर शख्स नहीं पढ़ सकता
वो मिला लेता है काजल में हमेशा आँसू
**

वो जो अफसाना-ए-ग़म सुन सुन के हंसा करते थे
इतना रोए कि सब आंख का काजल निकला
*** Kajal Shayari in Hindi
ज़रा सी बात है लेकिन हवा को कौन समझाए,
दिये से मेरी माँ मेरे लिए काजल बनाती है !~Munavvar Rana
***
तेरे मासूम चहरे पर, अदा अच्छी लगती है।
जिस घडी तु हंस दे, वो दुआ सच्ची लगती है।।
तेरी आँखों में काजल, इक लकीर सी बनाता है।
समंदर पर, ये नक्काशी अच्छी लगती है।।
***
एक मायने में आँखों की हद है ये काजल,
पर तुम्हारी आँखों में हसीन बेहद है ये काजल
***
बांटू ना किसी से साया भी तेरा..
काजल जहाँ वहाँ तेरा बसेरा
*** Kajal Shayari in Hindi
काजल रखो आँखों में, इंतज़ार ना रखो।
खूबसूरत हो तुम, खूबसूरत रहो। बेक़रार न लगो।
***
बादलों से गिरके एक काजल का कतरा होठों पे तेरे तिल बन के सज गया
नज़र लगे ना तुमको किसी की होटों से निकली थी दुआ आसमानों ने सुन लिया
***

अलसायी सुबह, फैले हुए काजल में, बिखरे हुए आँचल में,
बचाते बचाते छिपाते छिपाते नुमायां होती है कविता कोई रात की
*** Kajal Shayari in Hindi
रात की चादर पर बूंदे ओस की मोती सी सुबह के आँचल में गर्मी सूरज सी
सब बिखर गया स्याह काजल की तरह ख्वाब यूँ टूटे …..पंखुड़ियां लगी रोती सी

हम को तो जान से प्यारी है तुम्हारी आंखे
हाय काजल भरी मदहोश ये प्यारी आंखे
***
चांदनी रात भी जल जाये जब तू काजल लगा के आए
ये दिल भी मेरा हलचल मचाये जब तू काजल लगा के आए
***
गीले लब़~कातिल निगाहें गज़ब का काजल~गुलाबी हो़ठ
पगली तु ही बता ये दिल तुम पे न मरता तो क्या करता
***
काजल,आँखे ,जुल्फ़े,झुमका,चेहरा,बिंदिया
हाये दिल हार गए हम तुम्हे बेनकाब देखकर…!!!
*** Kajal Shayari in Hindi

बहुत रोई हुई लगती है आँखें
मेरी ख़ातिर ज़रा काजल लगा लो
***
बसे हो काजल की तरह नैनो मे बन के सपने
रचे हो मेहँदी की तरह हाथो बन के लकीरे
सजे हो लाली की तरह होठो पे बन के मुस्कराहटें
***
लग जाएगी नज़र दुनिया की, जान लो
लगा लो काजल चेहरे पर, गुजारिश मान लो।
***
आंख से बिछड़े काजल को तहरीर बनाने वाले
मुश्किल में पड़ जाएंगे तस्वीर बनाने वाले।
***
वो आँखों में काजल वो बालों में गजरा
हथेली पे इस के हिना महकी महकी ~Hasrat
***
आज फिर हुस्न-ए-दिलारा की वही धज होगी
वो ही ख़्वाबिदा सी आँखें, वो ही काजल की लकीर
*** Kajal Shayari in Hindi

हाथ से मेहँदी न बिखरी, आँखों का काजल सलामत
ये भी कोई बात थी, सखी पिया मिलन की रात थी
***
शायद किसी रोज तुम समझ पाओ इस दिल की बेकरारी
और तुम्हारी आंखों के काजल का कोई बहुत गहरा रिश्ता है
***
काजल लगाकर आप महफ़िल के अन्दाज़ को अपना बनाने लगे,
हम तो गाने लगे आपके लिए मोहब्बत में ग़ज़ल
जैसे आप चाँद बनके हमारे लिए रोशनी फैलाने लगे.
***
काजल की क़िस्मत क्या कहिये, नैनों में तूने बसाया
आँचल की क़िस्मत क्या कहिये, तूने अंग लगाया हैं
*** Kajal Shayari in Hindi
काजल बिंदियॉ, कंगन झुमके, ये मेरे ख़ज़ाने हैं,
दिल पंछी बनके उड़ जाता है, हम खोये खोये रहते हैं,,
***
काजल लागे किरकरो, सुरमा सहा ना जाए !
जिन नैनंन में साजन बसे,दूजा कौन समाये !!
***

जो बरस जाये वही बादल अच्छे हैं,
जो निगाहों को सजा दे वही काजल सच्चे हैं,
सयानों ने कुछ इस कदर बर्बाद कर दी है दुनिया,
हमें पागल ही रहने दो हम पागल ही अच्छे हैं…!!
***
उस की आँखों में भी काजल फैल रहा है
मैं भी मुड़ के जाते जाते देख रहा हूँ ~जावेद_अख़्तर
***
मुहब्बत की बेनूर ख्वाहिशें और……तेरा गम
हम बिखर से गये….आँखों से काजल की तरह ”
*** Kajal Shayari in Hindi
हाँ, एक और शाम रंगीन हुई है तुम्हारे आँचल की तरह…
और देखो, सुरमयी रंग सजा है तुम्हारे काजल की तरह…
***
महिफल मे आज फिर क़यामत की रात हो गई,
हमने लगाया अपने आखो मे काजल और बिन बादल बरसात हो गई.
***

जिसे भी देख लो तुम, वो हुआ एक पल में दीवाना,
तिलिस्मी है बहोत सनम, तुम्हारी आँखों का काजल !!
***
गुलाब से गुलाब का रंग तेरे गालों पे आया; तेरे नैनों ने काली घटा का काजल लगाया;
जवानी जो तुम पर चढ़ी तो नशा मेरी आँखों में आया।
*** Kajal Shayari in Hindi
मेहंदी रची हथेली मेरी ……मेरे काजल वाले नैन रे …….
पिया पल पल तुझे पुकारते होकर बैचेन रे
***
ये नैना ये काजल ये जुल्फे ये आँचल खूबसूरत सी हो
तुम ग़ज़ल कभी दिल हो कभी धड़कन कभी शोला कभी शबनम
तुम्ही ही हो तुम मेरी हमदम
***
हौंसला तुझ में न था मुझसे जुदा होने का;
वरना काजल तेरी आँखों का न यूँ फैला होता।
***

जो बनाई है तिरे काजल से तस्वीरे-मुहब्बत,
अभी तो प्यार के रंग से सजाया ही कहाँ है.
***
एक बार इशारा तो कर दे दिल और जिगर तो कुछ भी नहीं
मै खुद को जला सकता हूँ, तेरी आँखों के काजल के लिये…।
***
न रोओ आँख का काजल, निकल कर छूट जायेगा !
ये दिल तेरे अश्क बूंदों में, फिसल कर टूट जायेगा !!
***
याद है अब तक तुझसे बिछड़ने की वो अँधेरी शाम मुझे…
तू ख़ामोश खडी थी लेकिन बातें करता था काजल…!!!
*** Kajal Shayari in Hindi
संभालकर ज़रा रखियेगा कदम फूल बिखरे है मगर ठेस लग जायेगी
ये काजल लगाने का क्या फायदा रूप ऐसा है नज़र लग जायेगी !!!!
***
बावरा हुआ जाता हूँ तेरी अखियों में इश्क देखकर,,,
मेरी उम्मीदों का मक़सद तेरी आँखों का काजल ही तो है..!
***

Search Tags
Kajal Shayari, Kajal Hindi Shayari, Kajal par Shayari, Kajal whatsapp status, Kajal hindi Status, Hindi Shayari on KajalKajalwhatsapp status in hindi, Ankhon ke kajal par shayari,
काजल हिंदी शायरी, हिंदी शायरी, काजलकाजल स्टेटस, काजल व्हाट्स अप स्टेटस, काजल पर शायरी, काजल शायरी, काजल पर शेर, काजलकी शायरी, Ankhon ke kajal par shayari
Powered by Blogger.