Weather (state,county)

Muskurahat Shayari mix collection मुस्कुराहट पर शायरी संग्रह

धड़कने लगे दिल के तारों की दुनियाँ जो तुम मुस्कुरा दो
संवर जाये हम बेकरारों की दुनियाँ जो तुम मुस्कुरा दो – साहिर लुधियानवी
***
जो तुम मुस्कुरा दो बहारें हँसे, सितारों की उजली कतारें हँसे
जो तुम मुस्कुरा दो नज़ारें हँसे, जवां धड़कनों के इशारे हँसे
***
वही तो सब से ज़ियादा है नुक्ता-चीं मेरा,
जो मुस्कुरा के हमेशा गले लगाए मुझे !! ~QateelShifai
***
गुमाँ न क्यूँकि करूँ तुझ पे दिल चुराने का,
झुका के आँख सबब क्या है मुस्कुराने का !!

*** Muskurahat Hindi Shayari
जब दिल पे छा रही हों घटाएँ मलाल की,
उस वक़्त अपने दिल की तरफ़ मुस्कुरा के देख !! -सीमाब अकबराबादी
***
उन पे हंसिये शौक़ से जो माइल-ए-फ़रियाद हैं
उनसे डरिये जो सितम पर मुस्कुरा कर रह गए
~ असर लखनवी
***
मेरे दिल की राख़ क़ुरेद मत,इसे मुस्कुरा के हवा न दे
ये चराग़ फिर भी चराग़ है,कहीं तेरा हाँथ जला न दे
***
दिल की तरफ़ हिजाब-ए-तकल्लुफ़ उठा के देख,
आईना देख और ज़रा मुस्कुरा के देख !!
*** Muskurahat Hindi Shayari
वो सुब्ह-ए-ईद का मंज़र तिरे तसव्वुर में,
वो दिल में आ के अदा तेरे मुस्कुराने की !!
***
शायद तिरे लबों की चटक से हो जी बहाल,
ऐ दोस्त मुस्कुरा कि तबीअत उदास है !!- अदम
****
क्या मुस्तक़िल इलाज किया दिल के दर्द का
वो मुस्कुरा दिए मुझे बीमार देख कर !! -अदम
***
मैं इक फकीर के होंठों की मुस्कुराहट हूँ
किसी से भी मेरी कीमत अदा नहीं होती – मुनव्वर राना
***
फ़ज़ा-ए-नम में सदाओं का शोर हो जाए,
वो मुस्कुरा दे ज़रा सा तो भोर हो जाए !!
***
न जाने कह गए क्या आप मुस्कुराने में,
है दिल को नाज़ कि जान आ गई फ़साने में !!
*** Muskurahat Hindi Shayari
मस्त नज़रों से देख लेना था,गर तमन्ना थी आज़माने की
हम तो बेहोश यूँ भी हो जाते,क्या ज़रूरत थी मुस्कुराने की!!
***
सीख ली जिसने अदा गम में मुस्कुराने की,
उसे क्या मिटायेंगी गर्दिशे जमाने की !!
***
हौसले फिर बढ़ गये, टूटा हुआ दिल जुड़ गया,
उफ! ये जालिम मुस्कुरा देना, ख़फा होने के बाद !! – ‘आरज़ू’ लखनवी
***
हमारी बिगड़ी ये शायद यू ही संवर जाए,
तुम्हारा कुछ नहीं बिगड़ेगा मुस्कुराने में !!
*** Muskurahat Hindi Shayari
सुनाई दे तेरे क़दमों की आहट,
ये रस्ता मुस्कुराना चाहता है !! -वसीम बरेलवी
***
लो, तबस्सुम भी शरीक-ए-निगह-ए-नाज़ हुआ..
आज कुछ और बढ़ा दी गई क़ीमत मेरी..
~FaniBadayuni
***
बड़ी मुश्किल से बना हूँ टूट जाने के बाद
मैं आज भी रो देता हूँ मुस्कुराने के बाद.!!
***
हौसलों का सबूत देना था
ठोकरें खा के मुस्कुराना पड़ा.!!
*** Muskurahat Hindi Shayari
फ़स्ले-गुल के आने से,या खिज़ां के जाने से
काश मुस्कुरा सकते हम किसी बहाने से.!!
***
उदास छोड़ गया वो हर एक मौसम को
गुलाब खिलते थे कल जिसके मुस्कुराने से..!!
~इक़बाल अशहर
***
ग़मो की धूप में भी मुस्कुरा कर चलना पड़ता है
।।
ये दुनिया है यहाँ चेहरा सजा कर चलना पड़ता है
***
तुम भले हि मुस्कुराओ सांथ बच्चों के मगर
बच्चों जैसा मुस्कुराना दोस्तों, आंसा नही..!!
*** Muskurahat Hindi Shayari
कभी कभी तेरा बेवज़ह मुस्कुराना अच्छा लगता है ….
मुझ पर आँखों ही आँखों से तेरा हक़ जताना अच्छा लगता है !!
***
मुझे दर्द-ए-इश्क़ का मज़ा मालूम है, दर्द-ए-इंतेहा भी मालूम है।
ज़िन्दगी भर मुस्कुराने की दुआ न देना, मुझे पल भर मुस्कुराने की सजा मालूम है।
***
न जाने कैसी “नज़र” लगी है “ज़माने” की… . .
कमब्खत “वजह” ही नही मिलती “मुस्कुराने” की…..!!!
***
जिसकी किस्मत मे लिखा हो रोना..!!
वो मुस्कुरा भी दे तो आँसू निकल आते है..!!
***
लाख समझाया उसको की दुनिया शक करती है..
मगर उसकी आदत नहीं गयी मुस्कुरा कर गुजरने की !!
*** Muskurahat Hindi Shayari
दिल्लगी कर जिंदगी से, दिल लगा के चल..
जिंदगी है थोड़ी सी, थोडा मुस्कुरा के चल .
***
तेरे ना होने से जिन्दगी मे बस इतनी सी कमी है
मै चाहे लाख मुस्कुरा लू पर आंखो में नमी है
***
यूँ तेरा मुस्कुरा कर मुझे देखना
मानो जैसे सब कुछ कुबूल है तुझे
***
खामोश बैठे हैं तो लोग कहते हैं उदासी अच्छी नहीं,
और ज़रा सा हंस लें तो लोग मुस्कुराने की वजह पूछ लेते है।
***
मेरी यही आदत तुम सब को सदा याद रहेगी,
न शिकवा, न कोई गिला, जब भी मिला, मुस्कुरा के मिला.
*** Muskurahat Hindi Shayari
मुस्कुराने के अब बहाने नहीं ढूँढने पड़ते,
तुझे याद करते हैं तमन्ना पूरी हो जाती हैं..
***
राहत भी अपनों से मिलती हे,चाहत भी अपनों से मिलती हे,
अपनों से कभी रूठना नही.क्यूकी,मुस्कुराहट”भी अपनों से मिलती हे
***
मुस्कुराहट भी कमाल की पहेली है,
जितना बताती है,उससे कहीं जायदा छुपाती है…
***
अपने दुःख में रोने वाले,मुस्कुराना सीख ले |
ओरों के दुःख में आँसू बहाना सीख ले
***
“चलो मुस्कुराने की वजह ढूंढते हैं… ऐ जिन्दगी,,,,
तुम हमें ढूंढो… हम तुम्हे ढूंढते हैं …!!!
***
फूल बनकर मुस्कुराना जिन्दगी है,
मुस्कुरा के गम भूलाना जिन्दगी है,
***
वो तो अपने दर्द रो-रो के सुनते रहे;
हमारी तन्हाइयों से आँख चुराते रहे;
और हमें बेवफा का नाम मिला क्योंकि
हम हर दर्द मुस्कुरा कर छुपाते रहे
*** Muskurahat Hindi Shayari
खुद ही मुस्कुरा रहे हो साहिब
पागल हो या मोहब्बत की शुरूआत हुई है!!!!
***
ज़र्फ हो तोह गम भी नियामत हैं खुदा की।
जो सुकूं रोने में हैं,वो मुस्कुराने में कहां।
***
अपनी मुस्कुराहट को ज़रा काबू में रखिए,
दिल ए नादान इस पर कहीं शहीद ना हो जाए
***
फिर उसने मुस्कुरा के देखा मेरी तरफ़,
फिर एक ज़रा सी बात पर जीना पड़ा मुझे।
*** Muskurahat Hindi Shayari
दिल की हसरत जुबा पर आने लगी
आपको देखा तो जिंदगी मुस्कुराने लगी
**
तुम इतना जो मुस्कुरा रहे हो
क्या गम है जिसको छुपा रहे हो
***
हम इस निगाह-ए-नाज़ को समझे थे नेश्तर
तुमने तो मुस्कुरा के रग-ए-जाँ बना दिया!
*** Muskurahat Hindi Shayari
Powered by Blogger.